राजराजेश्वरी माता मंदिर

यह शाजापुर की ऐतिहासिक जगह है। शाजापुर आगरा-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग तथा चीलर नदी के तट पर स्थित है. राजराजेश्वरी माता मंदिर भी चीलर नदी के तट पर स्थित है। प्राचीन इतिहास के अनुसार, 300 साल पहले सन 1781 में मनीबाइ पलटन ने 4 बिघा 2 बिस्वा भूमी दान दी थी। सन 1791 ताराबाई 4106 /- रुपये मंदिर निर्माण के लिये दान दिये। मूर्ति की ऊंचाई 6 फीट है, मंदिर के सामने सन 1734 सभा मंडप का निर्माण किया गया। मंदिर में ऋद्धि-सिद्धि और गणपति की मूर्तियां भी स्थापित की गयी हैं। एक कुआं भी मंदिर का क्षेत्र में है। धर्मशाला भी भक्तों द्वारा निर्मित की गई है। यह मंदिर आस्था का केंद्र है।

फोटो गैलरी

  • राज राजेश्वरी मंदिर
  • राज राजेश्वरी मंदिर

कैसे पहुंचें:

वायु मार्ग

शाजापुर में हवाई अड्डा नहीं होने से यह सीधे नियमित उड़ानों से नहीं जुड़ा है। निकटतम हवाई अड्डे ईन्दोर एवं भोपाल हवाई अड्डा है। ईन्दोर स्थित देवी अहिल्या हवाई अड्डा लगभग 110 कि.मी. तथा भोपाल स्थित राजा भोज अड्डा लगभग 160 कि.मी. दूर है।

ट्रेन द्वारा

शाजापुर रेलवे स्टेशन शाजापुर जिले के जिला मुख्यालय का रेलवे स्टेशन है। शाजापुर जिला मुख्यालय बेरछा और मक्सी रेलवे स्टेशन से भी जुड़ा हुआ है।

सड़क मार्ग द्वारा

शाजापुर आगरा-बॉम्बे राष्ट्रीय राजमार्ग -3 (NH-3) पर स्थित है।